इंसान है या रबड़- जसप्रीत कालरा (इंडिया का सबसे लचीला इंसान)

इंसान है या रबड़- जसप्रीत कालरा (इंडिया का सबसे लचीला इंसान)

लुधिअना,पंजाब के 18वर्षीय जसप्रीत कालरा को ऐसी बॉडी मिली है जो की रबड़ की तरह लचीली है| जसप्रीत के पास एक अत्यंत लचीला शरीर है|अपनी अविश्वसनीय प्रतिभा के कारण,जसप्रीत अपने स्कूल और आसपास के क्षेत्र में काफी जाना जाता है। और अब,पूरी दुनिया में भी| लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स ने जसप्रीत को माना है इंडिया का सबसे फ्लेक्सिबल मैन -“बोनलेस मैन ऑफ़ इंडिया ” और यूनिक वर्ल्ड रिकॉर्ड ने “वर्ल्डस यंगेस्ट फ्लेक्सिबल बॉय” का ख़िताब दिया है और मिराक्लेस वर्ल्ड रिकॉर्ड ने “रबर मन ऑफ़ इंडिया” का ख़िताब दिया है|आइए जानते है की जसप्रीत ने इस अनोखे टैलेंट को कब पहचाना-

जसप्रीत ने 12साल की उम्र से ही योगा करना शुरू कर दिया था| 14साल की उम्र में वह डैनियल ब्राउनिंग स्मिथ से प्रेरित थे, जो एक अमेरिकी गर्भनिरोधक थे, उन्होंने शुरुआत में स्मिथ के यूट्यूब वीडियो देखकर अभ्यास शुरू किया। एक वर्ष के भीतर जसप्रीत अत्यधिक लचीला हो गया। जसप्रीत का यह भी कहना है की उनकी योगा टीचर ने प्रतियोगिता के लिए उन्हें चुना था| इसके बाद जसप्रीत और प्रतियोगितायो में जाने लगा और जसप्रीत के पास पुरस्कार आने शुरू हो गए | योगा अभ्यास से जसप्रीत कुछ महीनो में अपने हाथो को 360°रोटेट करपा रहा था | धीरे-धीरे शोल्डर डिस्लोकेशन जैसे बेहद मुश्किल स्टंट भी जसप्रीत बड़ी आसानी से करने लगा| जसप्रीत की गर्दन इतनी लचीली है की जसप्रीत अपनी गर्दन को 180°तक घुमा सकता है और अपने कंधों को अपने पैरों से छू सकता है और जसप्रीत अपने पूरे शरीर को आगे और पीछे की ओर भी झुका सकता हैं। खुद पर गर्व महसूस करते हुए,जसप्रीत ने कहा,“एक समय था जब मैं दूसरों से प्रेरित हुआ करता था। अब यह अच्छा लगता है की मैं सभी के लिए प्रेरणा बन गया हूं”|  जब सारी दुनिया सो रही होती है तब जसप्रीत सुबह जल्दी उठकर 2 घंटे डेली योगा प्रैक्टिस करता है| अपनी लगन और कड़ी मेहनत के साथ उन्होंने यह अलौकिक क्षमता हासिल की है। यहां तक ​​कि उनकी योग शिक्षिका संदीप कौर भी जसप्रीत के लचीलेपन से हैरान हैं| उन्होंने कहा,”जब हम बच्चों को झुकने वाले आसन सिखाते हैं, तो कुछ बच्चे कुछ हद तक ही कर सकते हैं, लेकिन जसप्रीत अलग था।” जसप्रीत को डॉक्टरों के पास भी दिखाया गया| डॉक्टर भी उन्हें देखकर आश्चर्यचकित हैं। डॉ गुरनीत सिंह,रेडियोलॉजिस्ट,ने कहा,“मैंने सामान्य स्थिति में कई बार एक्स-रे किया था और हाइपरटेक्स्ट स्थिति में भी। हमें कोई रेडियोलॉजिकल असामान्यता नहीं मिली| “उन्होंने ये भी कहा की उन्होंने अपने मेडिकल प्रैक्टिस में आजतक किसी की भी इतनी लचीली बॉडी नहीं देखी|

जसप्रीत यही नहीं रुकना चाहते उनके भविष्य की योजनाएं और भी बड़ी है | उन्होंने कहा की “मैं इस तरह से हेड रोटेशन का प्रतिनिधित्व करना चाहता हूं कि यह एक रिकॉर्ड बन जाए, इसलिए में अभी गिनीस वर्ल्ड रिकॉर्ड को पाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा हूँ | भारत का प्रतिनिधित्व करना वास्तव में अच्छा लगता है। लोग मुझे एक भारतीय के रूप में जानते हैं। मैं भारत का रबर मैन हूं। “

अगर आपको हमारा ये दिलचसप एव रोचक लेख पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले|

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *