भारत की 10 सबसे ज़्यादा तनख़्वाह देने वाली जॉब्स-

भारत की 10 सबसे ज़्यादा तनख़्वाह देने वाली जॉब्स-

  1. आईटी एंड सॉफ्टवेयर इंजीनियर– एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर एक ऐसा व्यक्ति है जो कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के डिजाइन, विकास, रखरखाव, परीक्षण और मूल्यांकन के लिए सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के सिद्धांतों को लागू करता है। एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर / डेवलपर / प्रोग्रामर की औसत वेतन 429,947 रुपये प्रति वर्ष होती है। C++ प्रोगरामिंग लैंग्वेज में अधिक स्किल्स होने से वेतन में बढ़ावा होता है| अनुभव इस नौकरी के वेतन को बहुत प्रभावित करता है|

  1. वकील– कानून एक ऐसा पेशा है जिसके लिए अर्थव्यवस्था की स्थिति चाहे जो भी हो, हमेशा मांग रहेगी। एक वकील वह है जिसका काम लोगों को कानून के बारे में सलाह देना और अदालत में उनके लिए बोलना है| Payscale के अनुसार एक कॉर्पोरेट वकील की सैलरी औसतन 7 लाख रुपए सालाना होती है|

  1. सिविल सर्विसेज– भारतीय सिविल सेवा को भारतीय शासन की रीढ़ की हड्डी कहा जाता है। जनता सिविल सेवक का बहुत सम्मान करते हैं क्योंकि वे देश को चलाने के लिए बहुत बड़ी ज़िम्मेदारियाँ निभाते हैं। 7वें वेतन आयोग ने शुरू से ही उच्च वेतन के साथ आर्थिक रूप से भी सिविल सर्विस को आकर्षक बना दिया है। आज एक प्रारंभिक सिविल सेवक अधिकारी को सैलरी लगभग Rs.80,000-85,000 प्रति महीना होती है|

  1. कमर्शियल पायलट– कमर्शियल पायलट भारत की सबसे अधिक सैलरी वाली नौकरियों में से एक है| कमर्शियल पायलट कार्गो पायलट, टूर पायलट या बैककंट्री पायलट हो सकते हैं। वे फ्लइट इंस्ट्रक्टर, फेरी पायलट या ग्लाइडर टो पायलट भी हो सकते हैं| प्रवेश स्तर के पायलट घरेलू एयरलाइंस के साथ प्रति माह 1.5 लाख रुपये तक कमा सकते हैं और अंतरराष्ट्रीय मार्गों पर और भी अधिक। वरिष्ठ पायलट प्रति माह 5 लाख रुपये के आसपास कमा लेते हैं|

  1. कंपनी सचिव– एक कंपनी सचिव एक निजी क्षेत्र की कंपनी या सार्वजनिक क्षेत्र के संगठन में एक वरिष्ठ पद है। भारत में कंपनी सचिव की सैलरी Rs. 28,000 and Rs. 40,000 के बीच होती है मगर इसमें वेतन वृद्धि बहुत तेजी से होती है और अनुभव होते होते कंपनी सचिव की सैलरी Rs. 100,000 महीना तक हो जाती है|

      5. डॉक्टर– डॉक्टरों और चिकित्सा पेशेवरों को भारत में सबसे अधिक सैलरी देने वाली जॉब में से माना जाता है| डॉक्टरों को मेडिकल स्कूलों में प्रशिक्षित किया जाता है जो आमतौर पर एक  विश्वविद्यालय का हिस्सा होते हैं। औसत आधार पे डॉक्टर की सैलरी ₹ 902,800 प्रति साल तक होती है|

 

  1. इन्वेस्टमेंट बैंकर– एक निवेश बैंकर एक व्यक्ति है जो अक्सर एक वित्तीय संस्थान के हिस्से के रूप में काम करता है और मुख्य रूप से निगमों, सरकारों या अन्य संस्थाओं के लिए पूंजी जुटाने से संबंधित है। एक निवेश बैंकर के रूप में, आप वास्तव में उज्ज्वल भविष्य का सपना देख सकते हैं। भारत में इन्वेस्टमेंट बैंकर का औसत वेतन INR 902,800 प्रतिवर्ष है।

  1. मर्चेंट नेवी – मर्चेंट नेवी पूरी दुनिया में कार्गो ले जाने वाली अंतर्राष्ट्रीय व्यापार की रीढ़ की हड्डी है। मर्चेंट नेवी उन लोगों की एक टीम है जो वाणिज्यिक शिपिंग ऑपरेशन का प्रबंधन करते हैं। मर्चेंट नेवी दुनिया भर में नए और विदेशी स्थानों पर जाने का अवसर प्रदान करता है तो चलिए बात करते है मर्चेंट नेवी की सैलरी की मर्चेंट नेवी में वेतन 12000 रुपये से लेकर 8 लाख रुपये प्रति माह तक  होती है|

  1. चार्टर्ड एकाउंटेंट– चार्टर्ड अकाउंटेंट सबसे होनहार और सबसे अधिक सैलरी देने वाली नौकरियों में से एक है। भारत में चार्टर्ड अकाउंटेंट्स की औसत वेतन 6-7 लाख से 30 लाख तक है। अंतर्राष्ट्रीय पैकेज 75 लाख तक भी अधिक हैं|

  1. प्रबंधन सलाहकार– प्रबंधन परामर्श कंपनियों या संस्थानों द्वारा नियुक्त किए जाते हैं| एक वरिष्ठ प्रबंधन सलाहकार प्रति वर्ष औसतन 1,442,756 रुपये का वेतन अर्जित किया जाता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *