भारत के सबसे सुंदर और सबसे अमीर मंदिर

दक्षिण  भारत के शहर तिरूवनंतपुरम् (त्रिवेंद्रम) में पदमनाभ स्वामी मंदिर स्थित है जोकि भारत के सबसे अमीर मंदिरों में से एक माना जाता है  मंदिर की देखभाल का कार्य त्रावणकोर के पूर्व शाही परिवार द्वारा किया जाता है द्रवि़ड शैली में इस मंदिर की स्थापना की गई थी ,भगवान विष्णु की विशाल मूर्ति मंदिर के गर्भगृह में विराजमान है, इस मूर्ति में भगवान विष्णु शेषनाग पर शयन मुद्रा में विराजमान हैं यह मंदिर अत्यंत पुराना और प्रचलित है,  पदमनाभ स्वामी मंदिर की लगभग एक लाख करो़ड की संपत्ति है,  जहां भक्त भगवान विष्णु के दर्शन के लिए लाखों की तादात में दूर-दूर से आते हैं, मान्यता यह भी है कि तिरूअनंतपुरम नाम भगवान के अनंत नामक नाग के नाम पर ही रखा गया है।
आंध्र प्रदेश चित्तूर जिले में भगवान तिरुपति बालाजी का मंदिर स्थित है, मंदिर की कुलसंपत्ति लगभग 50,000 करो़ड है। यह मंदिर विश्व की दूसरी सबसे प्राचीन  तिरुमला की पहाड़ियों पर  सात पहाड़ों से मिलाकर समुद्र तल से 2800 फिट की ऊंचाई पर स्थित है भगवान वेंकटश्वर  इस मंदिर में निवास करते हैं जोकि भगवान विष्णु के ही अवतार है, लगभग लगभग 50,000 से ज्यादा भ्कत रोज दर्शन करने यहा आते हैं
भारत के उड़ीसा राज्य के तटवर्ती शहर पुरी मैं भगवान श्री जगन्नाथ जी का मंदिर स्थित है इस जगह को जगन्नाथ नगरी के नाम से भी जाना जाता है जगन्नाथ शब्द का तात्पर्य है जगत के स्वामी, यह वैष्णव सम्प्रदाय का मंदिर है,  जोकि हिंदू धर्म में चार धामों में से एक धाम माना जाता है, यह मंदिर भारत के दस अमीर मंदिरों में से एक है।
भारत के पश्चिमी भाग में स्थित प्रांत महाराष्ट्र के शिरडी नामक कस्बे  मैं शिरडी साईं मंदिर बना हुआ है, सांई बाबा एक भारतीय गुरू और फकीर थे,  उनका असली नाम माता पिता आदि के बारे में कोई नहीं जानता साईं नाम उन्हें शिरडी में पहुंचने के बाद ही मिला भारत के अमीर मंदिरों में से यह भी एक माना जाता है, हर साल लगभग 350 करो़ड का दान आता है।  मंदिर के पास लगभग 32 करो़ड की चांदी के जेवर और 6 लाख कीमत के चांदी के सिक्के है,
भारत में त्रिकुटा हिल्स में कटरा नामक जगह पर 1700 मी. की ऊंचाई पर स्थित हिन्दूओं का पवित्र तीर्थस्थल वैष्णो देवी मंदिर है लगभग 30 मी. लंबी और  1.5 मी. ऊंची गुफा में मंदिर के पिंड स्थापित हैं ,वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड   इस मंदिर की देख-रेख करता  है  यहां हर साल लगभग 500 करो़ड का दान आता है।
गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र के वेरावल बंदरगाह पर  सोमनाथ मंदिर स्थित हैं, यह एक  महत्वपूर्ण मंदिर है हिंदू धर्म में 12  ज्योतिर्लिंग मैं प्रथम ज्योतिर्लिंग में इसकी गिनती होती है यहां की मान्यता यह है इस मंदिर का निर्माण स्वयं चन्द्रदेव ने कराया था सोमनाथ मंदिर में हर साल करोड़ों का चढ़ावा है  इसलिए यह भी भारत के अमीर मंदिर में से एक है
वाराणसी में स्थित  काशी विश्वनाथ का मंदिर बहुत प्रचलित है यहां की मान्यता है कि जो कोई इस मंदिर के दर्शन  और  पवित्र गंगा का स्नान कर ले तो उसको मोक्ष की प्राप्ति होती है इस मंदिर का निर्माण महारानी अहिल्या बाई होल्कर द्वारा सन 1780 में करवाया गया था। यहां  भी हर साल करो़डों का चढ़ावा आता है।
यह मंदिर भारत के अमीर मंदिरों में से एक है।
Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *